अब फ्री में मिलेगा LPG सिलेंडर, आप भी उठा सकते हैं स्कीम का फायदा

पूरी दुनिया इस समय कोरोना महामारी से लड़ रही है। बीते कुछ दिनों पहले ही लॉकडाउन के बीच लोगों को ये राहत की खबर मिली थी कि घरेलू सिलेंडर के दाम 164 रुपए घटा दिए गए हैं। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में गैस का सिलेंडर लगभग 588 रुपए का मिलेगा। एक मई से ही नई दरें लागू हो चुकी हैं। इन सबके बीच प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (PMGKP) के तहत 34,800 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता दी है। सरकार की इस स्कीम के तहत 4.5 करोड़ उज्जवला लाभार्थियों को फ्री एलपीजी बांट रही है।

जानकारी के लिए बता दें कि पूरे मध्यप्रदेश में अप्रैल माह में बड़ी लाभार्थियों ने सिलेंडर बुक कराया है। इसमें से अधिकतर उपभोक्ताओं के घर सिलेंडर पहुंच गए हैं। वहीं कुछ लाभार्थियों ने अप्रैल महीन के अंत में बुकिंग कराई है, ऐसे में एक-दो दिन में उनके घर तक गैस सिलेंडर पहुंच जाएगा। बताया जा रहा है कि मई महीने में सिलेंडर बुकिंग में और वृद्धि होगी।

 

प्रधानमंत्री उज्जवला गैस के सभी लाभार्थियों तक पहला मुफ्त गैस सिलेंडर पहुंचाने के लिए केंद्र ने दो अप्रैल को बैंक खातों में पैसे ट्रांसफर कर दिए थे। इनमें से जिन लाभार्थियों ने अप्रैल में सिलेंडर बुक करा दिया है, उनके खाते में दूसरे सिलेंडर के पैसे ट्रांसफर कर दिए जाएगें। आपको बता दें कि इन सिलेंडर को लेने के लिए ग्राहक का मोबाइल नंबर गैस एजेंसी के पास रजिस्टर्ड है, उन्हें ही इस स्कीम का लाभ मिल सकेगा।

 

स्कीम के तहत मिलेंगे सिलेंडर

उज्ज्वला स्कीम के तहत 14.2 किलोग्राम वाले 3 एलपीजी सिलेंडर ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में दिए जाएंगे। 1 महीन में एक ही सिलेंडर मुफ्त में दिया जाएगा। जिन लोगों के पास 5 किलो वाले सिलेंडर हैं, उन्हें 3 महीने में कुल 8 सिलेंडर दिये जाएंगे। यानी एक महीने में अधिकतम 3 सिलेंडर ही फ्री मिलेंगे।

 

भोपाल में हर दिन 12 हजार सिलेंडरों की खबत

 

मध्यप्रदेश की राजधानी में हर दिन 12 हजार घरेलू गैस के सिलेंडरों की खपत होती है। वहीं एक माह में करीब साढ़े तीन लाख से अधिक गैस सिलेंडर लग जाते हैं। इसमें तीन कंपनियों के सिलेंडर शामिल हैं। भोपाल में तीनों कंपनियों की 34 गैस एजेंसी हैं, जिसके जरिए शहर में गैस सप्लाई की जाती है। जबकि इन कंपनियों की मध्यप्रदेश में 578 एजेंसियां काम कर रही हैं।

 

Enjoyed this article? Stay informed by joining our newsletter!

Comments

You must be logged in to post a comment.

Related Articles
About Author